मोबाइल नेटवर्क कैसे काम करता है ?How to mobile network work in 2020

नमस्कार friends एक बार फिर से स्वागत है। आपका एक और शानदार आर्टिकल में इस आर्टिकल में मैं आपको how to work mobile network (मोबाइल नेटवर्क कैसे काम करता है) दोस्तों मोबाइल के बारे में आजकल बच्चे बड़े  सभी लोग इसके बारे में जानते हैं। लेकिन आपने कभी सोचा है। कि मोबाइल का नेटवर्क कैसे काम करता है? यह सवाल बहुत से लोगों के दिमाग जरूर में आता होगा। आज मैं इसी के बारे में सारी जानकारी इस आर्टिकल के माध्यम से देने जा रहा हूं। कि mobile network kaise kaam karta hai.

Mobile network kaise kaam karta hai | How to mobile network work

mobile network kaise kaam karta hai

दोस्तों जब आप दूसरे व्यक्ति के साथ फोन पर बात करते हैं तब मोबाइल फोन में लगा माइक्रोफोन आपकी आवाज को सुनता है जिसके द्वारा MEMS सेंसर और आईसी (i.c) की सहायता से आपकी आवाज को digital signal में change कर दिया जाता है जिससे आपकी आवाज 0 और 1 format में बदल जाती है।

आपके मोबाइल में एक antenna लगा होता है।जो 0 और 1 के निर्देशों को प्राप्त करके उन्हें विद्युत चुंबकीय तरंग में बदलता है।उदाहरण के लिए Frequency 0 और 1 को हमेशा Low और High Frequency का उपयोग करके संचारित (Transmit) किया जाता है।

विद्युत चुंबकीय तरंग अधिक दूरी तय नहीं कर सकती हैं क्योंकि इलेक्ट्रिक उपकरणों और पर्यावरण के कारण नष्ट हो जाती हैं लेकिन यह समस्या नहीं भी हो फिर भी पृथ्वी के वक्राकार होने के कारण यह विद्युत चुंबकीय तरंगे ज्यादा दूरी तय नहीं कर सकती हैं।

इन्हे भी जाने

 cellular network

विद्युत चुंबकीय तरंगे ज्यादा दूरी तय नहीं करने के कारण cellular तकनीक का उपयोग करके  cellular network architecture  टावरो को बनाया गया सेल्युलर तकनीक में एक भौगोलिक क्षेत्र को अष्टकोण सेल में बांटा जाता है जिसमें प्रत्येक सेल का अपना एक टावर और frequency slot होता है यह टावर आपस में optical fibre cable के माध्यम से एक दूसरे के साथ जुड़े रहते हैं।

आपके मोबाइल के द्वारा निकली विद्युत चुंबकीय तरंगे आपके क्षेत्र में स्थित डाबर तक पहुंचती हैं। मोबाइल टावर इन तरंगों को उच्चतम frequency बाली light pulse में change करता है light pulse को मोबाइल टावर के आधार में स्थित base trance server box में signal processing के लिए भेजता है।

Processing के बाद voice signal को गंतव्य टावर(Destination tower) को भेजता है गंतव्य टावर light pulse को विद्युत चुंबकीय तरंगों में बदल कर उन्हें बाहर निकालता हैऔर आप जिस व्यक्ति को फोन लगाते हैं उस व्यक्ति का मोबाइल उन तरंगों से जुड़ जाता है जिसके जरिए आपकी बात होती है।

आज आपने क्या सीखा?

मुझे उम्मीद है कि आपको मेरा आर्टिकल मोबाइल नेटवर्क कैसे काम करता है जरूर पसंद आया होगा मेरी हमेशा यह कोशिश रहती है कि मैं  यूजर को सही जानकारी प्रदान करा  सकूं जिससे कि इंटरनेट पर यूजर को कोई और आर्टिकल नहीं खोजना पड़े दोस्तों आपको यह आर्टिकल कैसा लगा या आपके मन में कोई प्रश्न है तो आप हमें नीचे कमेंट लिख सकते है।

 

Leave a Comment

error: Content is protected !!