what is OTP | OTP फुल from

दोस्तों आपने ओटीपी शब्द बहुत बार सुना होगा यह क्या होता है? और इसका यूज कहां कहां होता है? और इसकी फुल फॉर्म क्या है? और इसके क्या क्या फायदे हैं?आज हम इस आर्टिकल ओटीपी क्या है में इन्हीं सभी सवालों के बारे में विस्तार से समझेंगे कृपया इस पोस्ट को पूरा पढ़ें

ओटीपी फुल फॉर्म

दोस्तों ओटीपी का पूरा नाम वन टाइम पासवर्ड है

ओटीपी क्या है

दोस्तों ओटीपी एक वन टाइम पासवर्ड होता है दोस्तों आज का युग डिजिटल हो गया है आज के समय में बहुत सारे काम व्यक्ति घर बैठे अपने आप करने लगा है जैसे ऑनलाइन ट्रांजैक्शन,ऑनलाइन शॉपिंग,ऑनलाइन रिचार्ज, नेट बैंकिंग जैसी वेबसाइट पर कोई पेमेंट या ट्रांजैक्शन करते हैं तो आपके पास एक वन टाइम पासवर्ड आपके रजिस्टर मोबाइल नंबर पर एक 6 नंबर का पासवर्ड भेजा जाता है जिसका यूज़ केवल एक बार कर सकते हैं इस पासवर्ड को डालने के बाद ही हमारा ट्रांजैक्शन सफलता पूर्वक होता है।

वन टाइम पासवर्ड क्यों इस्तेमाल  किया जाता है

दोस्तों आपने साइबर क्राइम के बारे में सुना होगा इसमें कुछ लोग इतने एक्सपर्ट होते हैं जो कि दूसरे व्यक्ति के पासवर्ड को हैक कर लेते हैं जिसके बाद उस व्यक्ति के बैंक अकाउंट से रुपए निकाल लेते हैं दोस्तों यदि हम किसी वेबसाइट या नेट बैंकिंग पर अपना अकाउंट बनाते हैं तो हमें एक यूजर का नाम और पासवर्ड बनाना होता है पासवर्ड को हम इस हिसाब से बनाते हैं जिससे कि वह हमें याद रहे जिसमें हम डेट ऑफ बर्थ या कॉलेज का नाम और मोबाइल नंबर यूज करके बनाते हैं इस तरीके के पासवर्ड को कोई भी आसानी से हैक कर हमारे अकाउंट को चला सकता है यदि हमारे दोस्त को हमारे यूजर आईडी पासवर्ड के बारे में पता है तो वह भी हमारे अकाउंट को गलत तरीके से यूज कर सकता है

इन्हीं सभी समस्याओं को ध्यान में रखते हुए सभी ट्रांजैक्शन वेबसाइट और बैंकों ने अपने ट्रांजैक्शन में ओटीपी सिस्टम को लागू किया जिससे कि यूजर के अकाउंट को सुरक्षित रखा जा सके

वन टाइम पासवर्ड के फायदे

दोस्तों ओटीपी के माध्यम से हमारे जीमेल अकाउंट से बैंक अकाउंट और सोशल मीडिया पर जितने भी अकाउंट बनाए जाते हैं सभी अकाउंट सुरक्षित रहते हैं वन टाइम पासवर्ड के द्वारा एक 6 नंबर का एक कोड हमारे रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर मैसेज के द्वारा सेंड किया जाता है जो कि 5 या 10 मिनट मान्य रहता है इसके बाद यह कोड अमान्य हो जाता है यदि हमारे यूजर आईडी पासवर्ड किसी दूसरे व्यक्ति को मिल भी जाते हैं फिर भी वह हमारे अकाउंट को चला नहीं सकता है उस व्यक्ति को वन टाइम पासवर्ड की जरूरत पड़ेगी जोकि हमारे रजिस्टर्ड मोबाइल पर आएगा इसलिए वह हमारे अकाउंट में कुछ भी नहीं कर सकता है 

  एसबीआई एटीएम ओटीपी ट्रांजैक्शन

दोस्तों आपने एटीएम से कई बार एटीएम कार्ड को चेंज करके अकाउंट से रुपए चुराने की घटना के बारे में सुना होगा अकाउंट से रुपए निकल जाने के बाद अकाउंट होल्डर को मोबाइल पर मैसेज आने के बाद पता चलता था कि उसके अकाउंट से रुपए निकाल लिए गए हैं इसी समस्या को ध्यान में रखते हुए भारतीय स्टेट बैंक ने 17 सितंबर 2020 से अपने सभी एटीएम पर  ओटीपी ट्रांजैक्शन को लागू किया है यदि आप भारतीय स्टेट बैंक के एटीएम से 10000 से ज्यादा रुपए निकालते हैं तो आपके रजिस्टर मोबाइल नंबर पर एक ओटीपी भेजा जाएगा जब आप इस वन टाइम पासवर्ड को एटीएम में प्रविष्ट करेंगे तभी आपका ट्रांजैक्शन सफलतापूर्वक हो पाएगा

ओटीपी

दोस्तों ओटीपी के द्वारा सही ग्राहक के बारे में पता चलता है वन टाइम पासवर्ड केवल आपके रजिस्टर मोबाइल नंबर पर ही भेजा जाता है यदि आप वास्तविक है ओटीपी के माध्यम से आप अपने अकाउंट में कुछ भी बदल कर सकते हैं यदि आप ऑनलाइन लेनदेन करते हैं तो बैंक आपसे ओटीपी के द्वारा आपके ट्रांजैक्शन को अनुमति देता है जिससे कि कोई आपके साथ धोखाधड़ी नहीं कर सके

यदि आप सोशल मीडिया अकाउंट का यूज़ करते हैं तो उन्हें और भी ज्यादा सुरक्षित करने के लिए आप डबल सिक्योरिटी को भी लगा सकते हैं यह सर्विस आपके सभी सोशल मीडिया अकाउंट के लिए फ्री में होती है

निष्कर्ष: 

मुझे में है कि आपको ओटीपी क्या है आर्टिकल जरूर पसंद आया होगा जिससे आपके दिमाग में ओटीपी से जुड़े प्रश्नों का उत्तर मिल गया होगा मैं हमेशा से यह कोशिश करता हूं कि मैं अपने आर्टिकल में ज्यादा से ज्यादा जानकारी को शेयर करूं ताकि लोगों को किसी और वेबसाइट पर जाने की जरूरत ना हो यदि आपको इस पोस्ट से जुड़ा अभी भी कोई सवाल हो तो हमें कमेंट में लिखें

Leave a Comment

error: Content is protected !!